अजय त्रिपाठी

माँ की भक्ति का प्रतीक गर्भा

आदि शक्ति,सार्वजानिक पूजन
आदि शक्ति,सार्वजानिक पूजन
आदि शक्ति का सार्वजानिक पूजन

आज माँ आदि शक्ति का सार्वजानिक पूजन का अवसर मिला जाग्रति युवा मंडल कापा लोधी पारा द्वारा रास गर्भा का कार्यकर्म आयोजित किया जा रहा है माता की भक्ति में युवक युक्तिया झूम कर नाचती है और बड़े ही हर्षो उल्लास से गर्भा खेला जाता है यह कार्य माता की पूजन आरती से प्रारंभ होता है यह शोभाग्य आज मुझे प्

Tags: 

राष्ट्रीय विचार गोष्ठी आयोजित

राष्ट्रीय विचार गोष्ठी
राष्ट्रीय विचार गोष्ठी
राष्ट्रीय विचार गोष्ठी
राष्ट्रीय विचार गोष्ठी
राष्ट्रीय विचार गोष्ठी

एक राष्ट्रीय विचार गोष्ठी का आयोजन हुआ,जिसका विषय " राष्ट्रीय ब्राह्मण संगठनों में समय समन्वयन वर्तमान समय की आवश्यकता है " था जिस पर श्री त्रिलोकी नाथ सिधरा ने वर्तमान समय में ब्राह्मण संगठन की आवश्यकता को प्रतिपादित करते हुए कहा कि संगठनों में समन्वय देश में ब्राह्मणों की वैचारिक पृ

Tags: 

राजनीती और समाज को धर्म सम्मत चलने का कार्य ब्राह्मण का

ब्रह्मोउत्शव
ब्रह्मोउत्शव
ब्रह्मोउत्शव

रायपुर । छत्तीसगढ़ के राजनैतिक, सामाजिक परिवेश को धर्म सम्मत चलाने का कार्य ब्राह्मण को करना होगा। छत्तीसगढ़ सहित देश में सदैव ब्राह्मण अपनी इस भूमिका का निर्वाह करते रहे हैं। यह विचार आज राजिम के विधायक एवं कार्यक्रम के मुख्यअतिथि संतोष उपाध्याय ने ब्र होत्सव 2014 के अवसर पर व्यक्त किये । श्री

Tags: 

ब्रम्होत्सव 2014 का आयोजन

राष्ट्रीय विचार गोष्ठी,अजय त्रिपाठी,ajay tripathi

सर्व युवा ब्राम्हण परिषद् छत्तीसगढ़ द्वारा प्रकाशित विप्र वार्ता हिन्दी मासिक पत्रिका के 100 वें अंक के प्रकाशन के अवसर पर ब्रम्होत्सव 2014 का आयोजन 20 सितबंर 2014 को स्थानीय आर्शिवाद भवन बैरन बाजार में आयोजित किया गया है आयोजन में राष्ट्रीय संगठनों के प्रतिनिधियों के साथ प्रांतिय प्रतिनिधियों की

Tags: 

विचार गोष्ठी

आदरणीय साथियों , 12 सित को शाम 4 से 7 बजे तक वृब्दावन हाल रायपुर में विप्र वार्ता की उपयोगिता और उसके सांस्कृतिक संरक्चन ,समाज पर पढ़े प्रभाव , भविष्य में रुपरेखा क्या हो, विषय पर विचार गोष्टी पत्रिका के 100 वे अंक में प्रकाशन हेतु आयोजित है आपको सादर आमंत्रण
अजय त्रिपाठी

Tags: 

वर्ण व्यवस्था

वर्ण व्यवस्था -जन्म मूलक या कर्म मूलक-- ऋग्वेद के दसवें मण्डल के पुरूषसूक्त में शुद्र शब्द आया है इससे इस बात की पुष्टि होती है कि आज से लगभग 1500-1000 ईसा पूर्व अर्थात ऋग्वेदिक काल में वर्ण व्यवस्था का जन्म हुआ था। यह माना जाता है कि इस काल में समाज समतावादी था अर्थात समाज में छूआछूत का प्रचलन न

Tags: 

घर से हो चरित्र निर्माण

ajay tripathi,vipra,

घर से हो चरित्र निर्माण तब होगा समाज-देश-महान --- भारत में आज भी सामाजिक सुरक्षा का काम परिवार करता है। जिस कारण भारत की अर्थव्यवस्था पर ज्यादा बोझ नही पड़ता । परिवार केन्द्रित समाज की अर्थव्यवस्था होने के कारण से भारत की घरेलू बचत दर दुनिया में सब से ज्यादा 36 प्रतिशत है। जो भारत को समुचित विकास

Tags: 

विप्रवार्ता जनवरी 14 का अंक

विप्रवार्ता,जनवरी 14,अंक

विप्रवार्ता जनवरी 14 का अंक आपके हाथो में शीघ्र पहुचेगा उम्मीद है की नयी सुचनायो और जानकारियों से परिपूर्ण यह अंक आपको पसंद आएगा ,आपकी सदस्यता लंबित है सदस्यता शुल्क २५१ रुपये जमा करे ,प्रतिनिधि बनने उत्सुक विप्र जन संपर्क करे ९८२७१३५०५५

Tags: 

कान्यकुब्ज स्नेह एवं परिचय सम्मेलन

संगठन में शक्ति, शक्ति से विकास और विकास से वैभव के उद्देश्य को लेकर कान्य कुब्ज सभा शिक्षा मंडल रायपुर द्वारा आशीर्वाद भवन बैरन बाजार में छत्तीसगढ़ स्तरीय कान्यकुब्ज स्नेह सम्मेलन 2013 का प्रथम आयोजन किया गया जिसमें छत्तीसगढ़ के जिलों से कान्य कुब्ज संगठनों के पदाािधकारी एवं सदस्यों ने संगठन विष

Tags: 

स्व. पद्मिनी शुक्ल बहुमुखी प्रतिभावान व्यक्तित्व

पद्मनी शुक्ल,श्यामाचरण शुक्ल,अजय त्रिपाठी,विप्रवार्ता,vipravarta,
पद्मनी शुक्ल,श्यामाचरण शुक्ल,अजय त्रिपाठी,विप्रवार्ता,vipravarta,

विश्व ब्राह्मण संघ छत्तीसगढ़, सर्व युवा ब्राह्मण परिषद छत्तीसगढ़ एवं विप्र वार्ता परिवार के संयुक्त तत्वावधान में आज स्व. पंडित श्यामाचरण जी शुक्ल की धर्मपत्नी स्व.

Tags: 

Pages

Subscribe to RSS - अजय त्रिपाठी