अनुष्ठान

देवी अहिल्या का लिंगार्चन अनुष्ठान

राज धर्म व राज कार्य में लिप्त रहकर भी जिन लोगों का दिव्य व्यक्तिवों में शुमार किया जा सकता है उनमें देवी अहिल्या का स्थान सबसे ऊंचा है । भौतिक कार्यों का संपादन व संचालन करते हुए भी उन्होंने ईश्वर से तादात्म्य स्थापित करने का दुष्कर कार्य किया ,श्रावण मास अत्यंत पवित्र मास माना जाता है और इस मास

Tags: 

ज्योतिष प्रश्नोत्तरी : महिला ज्‍यातिषी श्रीमती चंद्रा पाण्डेय व्‍दारा

Subscribe to RSS - अनुष्ठान