आओ इतिहास बनायें

विप्र वार्ता के कृपालु पाठकों से संपादक मंडल का निवेदन
श्रध्दालु विप्र बंधु, - आप सभी के सहयोग से मात्र एक वर्ष पूर्व प्रारंभ हुई आपकी प्यारी पत्रिका सफलता के नित नये सोपान छू रही है ।

मुट्ठी भर उत्साही विप्र नौजवानों के उत्साह से शुरु हुये विप्र-वार्ता के कारवां में आज तक म',000 सदस्यों का परिवार जुड़ चुका है और इस संख्या में निरंतर अबाध गति से वृध्दि हो रही है ।

मित्रों हमारा सदैव यह प्रयास रहता है कि हम विप्र बंधुओं की अच्छाईयों को समाज के सामने लायें । इसी तारतम्य में हमने विप्र वार्ता के आगामी अंको लें आओ इतिहास बनायें नाम स्तंभ शुरु करने वाले है।

इस स्तंभ के माध्यम से हम उन बुजुर्गों का विवरण आगामी अंकों में प्रकाशित करेंगे जिन्होंने म' से अधिक की वय प्राप्त कर ली है । यदि आपके घर-परिवार में आसपास के विप्र समाज में ऐसे विप्र बंधु निवासरत हों जो कि म' सें अधिक वर्षो तो उनके विषय में हमें निम्न प्रपत्र में जानकारी भेजने की कृपा करें ।

बुजुर्गो की शख्सियत का विवरण आगामी अंको में मुद्रित कर हम अनुग्रहित होंगे ।

- नाम
- शिक्षा
- जन्मतिथि या आयु
- कार्यक्षेत्र शासकीय सेवा, समाज सेवा, राजनीति, व्यवसाय अन्य
- कार्यक्षेत्र में धारित पद
- विशेष योग्यता (अधिकतम म-म वाक्यों में)
- जीवन का कोई संस्मरण (अधिकतम म0 वाक्यों में)
- परिवार के अन्य सदस्यों के नाम
- निवास का पता
कृपया फोटो के साथ जानकारी भेजे ।

Tags: