कान्यकुब्ज युवक-युवती परिचय सम्मेलन का शुभारंभ

 कान्यकुब्ज युवक-युवती परिचय सम्मेलन,raipur,vipra varta,vipra,
 कान्यकुब्ज युवक-युवती परिचय सम्मेलन,raipur,vipra varta,vipra,
 कान्यकुब्ज युवक-युवती परिचय सम्मेलन,raipur,vipra varta,vipra,

अखिल भारतीय कान्यकुब्ज युवक-युवती परिचय सम्मेलन का शुभारंभ आज स्थानीय समाचार के संपादक श्री हिमांशु द्विवेदी, नगर के महापौर प्रमोद दुबे के करकमलों के द्वारा सम्पन्न हुआ। उद्घाटन सत्र को संबोधित करते हुए हिमांशु द्विवेदी ने ब्राह्मण को लेने वाला नही वरन् देने वाला बताया, उन्होने कहा कि श्री कृष्ण के यहाॅं जब सुदामा गये थे तब उन्होने भी तीन मुठ्ठियाॅं चावल श्रीकृष्ण को दिये थे। सुदामा ने कभी यह अपेक्षा नही की कि उन्हें कुछ मिले लेकिन समाज में उपयुक्त दान प्राप्त करने की भुमिका के निर्वाहन के लिए दान देना स्वीकार किया। ब्राह्मण सदैव अपनी बुद्धि के बल से राजतंत्र में चाणक्य की भूमिका निभाता आ रहा है। कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि महापौर प्रमोद दुबे ने कार्यक्रम की प्रशंसा करते हुए इसे समाज के लिए उपयोगी बताया।
उन्होने समाजजनों से अपने जन्मदिन एवं वैवाहिक वर्षगांठ पर नगर के पर्यावरण को संतुलित बनाये रखने के लिये एक वृक्ष लगाने की अपील की। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए समाज के अध्यक्ष श्री वीरेन्द्र पाण्डेय ने कार्यक्रम की उपयोगिता पर प्रकाश डालते हुए कहा कि वर्तमान समय में देश में बड़ रहे लिंगीय अनुपात में लड़कियों की गिरती संख्या में ऐसे आयोजन की उपयोगिता दोगुनी हो गयी है। कार्यक्रम का संचालन हेमन्त तिवारी सचिव संजय अवस्थी ने धन्यवाद ज्ञापन के साथ से किया।
कार्यक्रम का शुभारंभ सरस्वती वंदना और दीप प्रज्जवलन के साथ शुरू हुआ। अतिथियों का स्वागत उपाध्यक्षद्वय श्रीमती शकुन्तला तिवारी एवं गिरिजा शंकर दीक्षित सह-सचिवद्वय श्रीमती नीता अवस्थी और राजेश राजकुमार दीक्षित, महिला मंडल प्रभारी श्रीमती निशा अवस्थी, कार्यकारिणी सदस्य श्रीमती ममता शुक्ला, अर्चना मिश्रा, शर्मिला शुक्ला, मीनाक्षी वाजपेयी, नीलिमा शुक्ला एवं महिला कार्यकारिणी सदस्य की गरिमामयी उपस्थिति में हुआ। कार्यक्रम में पूर्व सचिव श्री राजेन्द्र शुक्ल, ज्ञानशंकर वाजपेयी, संजय शुक्ल, समीर मिश्रा, साजेन्द्र पाण्डेय, अजय तिवारी, अजय त्रिपाठी, सुरेश मिश्रा, रवीन्द्र शुक्ला, प्रशांत तिवारीएवं समस्त कार्यकारिणी के सदस्य शामिल थे। यह जानकारी कार्यक्रम के संयोजक श्री आलोक तिवारी द्वारा दी गई।

सुशील तिवारी

Tags: