घर से हो चरित्र निर्माण

घर से हो चरित्र निर्माण

ajay tripathi,vipra,

घर से हो चरित्र निर्माण तब होगा समाज-देश-महान --- भारत में आज भी सामाजिक सुरक्षा का काम परिवार करता है। जिस कारण भारत की अर्थव्यवस्था पर ज्यादा बोझ नही पड़ता । परिवार केन्द्रित समाज की अर्थव्यवस्था होने के कारण से भारत की घरेलू बचत दर दुनिया में सब से ज्यादा 36 प्रतिशत है। जो भारत को समुचित विकास

Tags: 

Subscribe to RSS - घर से हो चरित्र निर्माण