चतुर्थी

चतुर्थी व्रतानि कथनं

ऊँ श्रीं ह्रीं क्लीं गणेश्वराय ब्रह्मरूपाय चारवे । सर्वसिद्धि प्रदेशाय विघ्नेशाय नमो नम:।। -- ऊँ प्रियात्मनों सादर नमो नारायणाय नम:। मम प्यारे जी की पावन कृपा से आज हम लोग चतुर्थी के व्रतों के बारे में जाने समझने का प्रयास करेंगे । ऊँ माग मास के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी के दिन उपवास (व्रत) रखें तथा

Tags: 

भगवान श्रीगणेश का जन्म

19 सितंबर, बुधवार को गणेश चतुर्थी है। इस दिन घर-घर भगवान श्रीगणेश की स्थापना की जाती है।भगवान श्रीगणेश की रोज सुबह- शाम आरती करें व दीपक लगाएं। भोग लगाएं।भगवान श्रीगणेश को तुलसी न चढ़ाएं। इससे दोष लगता है।भगवान श्रीगणेश को दूर्वा व फूल चढ़ाएं ,श्रीगणेश स्थापना के शुभ मुहूर्त,कन्या लग्न- सुबह 6:07

Tags: 

Subscribe to RSS - चतुर्थी