पूजन

शिव-पूजन , शिव के अनुसार

शिव बनकर शिव की पूजा करनी चाहिए। सावन में शिव के जन कल्याणकारी गुणों को अपने भीतर उतारकर ही उनकी उपासना करें। शिव का अर्थ शुभ । शंकर का अर्थ होता है कल्याण करन वाले। निश्चित रूप से उन्हें प्रसन्न करने के लिे मनुष्य को शिव के अनुरूप ही बनना पड़ेगा। शिवों भूत्वा शिव यजेत अर्थात शिव बनकर ही शिव की

Tags: 

दीपावली पूजन के प्रतीक

दीपावली के शुभ दिन महालक्ष्मी की पूजा का विधान है। इस पूजा के साथ ही घर और पूजा घर को सजाने के लिए मंगल वस्तुओं का उपयोग किया जाता है । दीपावली पूजन के प्रतीक में -

Tags: 

महालक्ष्मी पूजन विधि

सर्वप्रथम मन, वाणी और हृदय से पवित्र होने के
लिए पवित्रीकरण और आचमन का विधान संपन्न किया जाता है।
पवित्रीकरण- दाहिने हाथ में जल रखकर बायें हाथ
से ढंक ले और मंत्र पढऩे के बाद अपने समस्त शरीर पर छिडक़ लें।
मंत्र- ऊँ अपवित्र: पवित्रो वा सर्वार्र्स्थां गतोपि वा।
य: स्मरेत् पुण्ण्डरीकाक्षं स बाहयात्त्यन्तर: शुचि:।।
आचमन - दाहिने हाथ में जल लेकर निम्र मंत्र बोलते हुए तीन
बार जल पीये। पंच पात्र के आचमनी से भी जल लेकर
दूर से ही पी सकते हैं।
मंत्र- ऊँ अमृतृतृतोपेपेपस्तरणमसि स्वाहा।।
ऊँ अमृतृतृतोपिधानसि स्वाहा।।
ऊँ सत्यं यश: श्रीमर्यि श्री: श्रयतां स्वाहा।।
इसके बाद प्राणायाम्... यदि अत्त्यस्त हो तो..। आचमन
के पश्चात् दाहिने हाथ में जल, अक्षत और पुष्प लेकर निम्र मंत्र
पढ़ते हुए संकल्प लें।

Tags: 

पुरूषोत्तम मास

Sharda gopal Sharma

भगवान विष्णु की आराधना का पर्व पुरूषोत्तम मास-इस वर्ष ज्येष्ठ मास अधिक मास है क्षण, मुहूर्त, पक्ष, मास, दिन, रात्रि आदि सब अपने अपने स्वामी से अधिकार प्राप्त करके निर्भय विचरण करते हैं किन्तु अधिक मास का न कोई नाम न कोई स्वामी एवं न कोई आश्रय होता है । अधिक मास में शुभ कार्य निषिद्ध है

Tags: 

भगवान शिव पूजन

बूढ़ेश्वर महादेव में विप्र वार्ता की टीम ने सावन के अवसर पर भगवान का अभिषेक पूजन विधि विधान से संपन्न किया गया

Tags: 

छत्तीसगढ़ में मनाई परशुराम जयंती

शिव का पूजन

राशि अनुसार शिव का पूजन-ज्योतिष शास्त्र के अनुसार यदि व्यक्ति अपनी रााशि के अनुसार भगवान शिव की आराधना और पूजन करे तो विशेष लाभ प्राप्त कर सकते हैं । जिसे अपनी जन्म राशि या नाम राशि पता हो वह व्यक्ति निम्न सामग्री से शिवलिंग पर अभिषेक करे ।

Tags: 

सावन पूर्णिमा पर श्रावणी उपाकर्म

श्रावणी पर्व पर खारून नदी के तट पर शहर के विप्र जनों ने बड़ी संख्या में स्नान कर वैदिक मंत्रों के साथ ्रप्रतिवर्षानुसार श्रावण की पूर्णिमा रक्षा बंधन के दिन संकल्प लेकर अपने पित्रों व गुरूओं का तर्पण किया एवं सप्त ऋुषियों का पूजन, वेद पूजन कर जनेऊ पूजन कर धारण किया । इस कार्यक्रम में लगभग 80 ब्रा

Tags: 

वैदिक मंत्रोच्चार के बीच हुआ व्रतबंध

समता सोसायटी प्रांगण में छत्तीसगढ़ी ब्राह्मण समाज केन्द्रीय समिति द्वारा आज सामूहिक व्रतबंध समारोह का आयोजन किया गया । यहां वैदिक मंत्रोच्चार के साथ 25 बटुकों का व्रतबंध संपन्न हुआ । पूर्ण ब्र्राह्मणत्व प्राप्ति के लिए जनेउ धारण समारोह मे बच्चों के साथ ही परिजन उत्साह के साथ पहुंचे ।

Tags: 

राशि के अनुसार हो शिव पूजा

शिव पुराण के अनुसार महाशिवरात्रि के दिन शिवलिंग की उत्पत्ति हुई थी, इसीलिए इस दिन किया गया शिव पूजन, व्रत और उपवास अनंत फल दायी होता है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार श्रध्दालु भक्त अपनी राशि के अनुसार भी भगवान शिव की आराधना और पूजन कर मनोवांछित फल प्राप्त कर सकते हैं । महाशिव रात्रि के दिन किसी भी र

Tags: 

Subscribe to RSS - पूजन