फाल्गुन सुदी पुर्णिमा

समाजिक एकता का प्रतीक उत्सव: होली

पंडित राघवेन्द्र पाठक,होली

हमारा देश संस्कृति प्रधान देश होने के साथ-साथ उत्सव प्रिय देश भी हैं। ‘‘उत्सव प्रियः खलु मनु याः’’ अर्थात् मनुश्य उत्सव प्रिय प्राणी है। उत्सव यानि मनुष्य को उन्नत बनाने वाला, द्विज बनाने वाला संस्कार मुक्त त्यौहार जन्मना, जायते शुद्रः संस्कारात् द्विज उच्यते इस प्रकार हमारे यहॉ हर उत्सव और त्यौह

Tags: 

Subscribe to RSS - फाल्गुन सुदी पुर्णिमा