ब्रम्होत्सव 2014 का आयोजन

राष्ट्रीय विचार गोष्ठी,अजय त्रिपाठी,ajay tripathi

सर्व युवा ब्राम्हण परिषद् छत्तीसगढ़ द्वारा प्रकाशित विप्र वार्ता हिन्दी मासिक पत्रिका के 100 वें अंक के प्रकाशन के अवसर पर ब्रम्होत्सव 2014 का आयोजन 20 सितबंर 2014 को स्थानीय आर्शिवाद भवन बैरन बाजार में आयोजित किया गया है आयोजन में राष्ट्रीय संगठनों के प्रतिनिधियों के साथ प्रांतिय प्रतिनिधियों की एक विचार गोष्ठी राष्ट्रीय स्तर पर ‘‘ब्राम्हण संगठन की उपयोगिता एवं उनका आपसी समन्वय जरूरी है ‘‘ के विषय पर प्रथम सत्र में आयोजित की गई है, द्वितीय सत्र मे खुला अधिवेशन के रूप में दोपहर 3 से 5 बजे तक ब्रम्होत्सव 2014 के रूप में होगा।
विप्र वार्ता के 100 वे अंक में प्रकाशन हेतु एक विचार गोष्ठी शहर के बुद्धिजीवियों, साहित्यकारों, एवं वरिष्ठ विप्र संगठनों केे बीच गत दिनों वृन्दावन हॉल सिविल लाईन में आयोजित की गई जिसमें पत्रिका के सांस्कतिक संरक्षण में उपयोगिता और समाज पर पड़े प्रभाव भविष्य की रूपरेखा विषय में वरिष्ठ साहित्यकार श्री अमरनाथ त्यागी, श्री संजीव ठाकुर, श्री अजय पाठक, श्री जे.पी. रथ, डॉ.स्नेहलता पाठक, श्री विरेन्द्र पांडेय, श्री प्रेमशंकर गोटिया, श्री नवीन कुमार तिवारी अमर्यादित, श्रीमती शिवानी मोइत्रा, श्रीमती सुनिता शर्मा, डॉ.अशोक त्रिपाठी, डॉ.विधाकांत त्रिवेदी, ज्योतिषाचार्य श्रीमती चन्द्रा पांडेय, डॉ.डी.के पाठक, श्री ए.पी दुबे, छत्तीसगढ़ी फिल्मी हिरो श्री प्रकाश अवस्थी, चेम्बर की कार्यकारी अध्यक्ष श्रीमती आभा मिश्रा, श्री सुरेश मिश्रा, श्री रज्जन अग्निहोत्री, श्री आलोक तिवारी, श्री कृष्णकांत पाठक, श्री आर.एन जोशी,श्री शिवाकांत त्रिपाठी, श्रीमती सुनिता चंसोरिया, श्रीमती बबीता दुबे, श्रीमती साधना शर्मा, श्रीमती सुधा जोशी, श्रीमती पारूल पंडेया, श्री राजेश सिंह, प्रदीप कुमार पांडेय, हेमंत तिवारी, अमित शर्मा, राजकुमार दुबे, अनुराग मिश्रा, आलोक शर्मा, गुणानिधि मिश्रा, राकेश तिवारी, बी.के त्रिवेदी, मनीष तिवारी, मनीष वोरा, विजय शुक्ला, हितेश तिवारी, सतीश शर्मा, कौशल शर्मा, अशोक शर्मा, आदित्य मिश्रा, गणेश जोशी, राघवेन्द्र पाठक, अविनय दुबे, सौरभ शर्मा, सहित विप्रजन उपस्थित थे, गोष्ठी का संचालन अध्यक्ष अजय त्रिपाठी ने एवं धन्यवाद ज्ञापन प्रधान संपादक अरविंद ओझा ने किया।

Tags: