ब्रह्म भट्ट ब्राह्मण समाज का प्रथम राष्‍ट्रीय महिला सम्मेलन सम्पन्न

भिलाई । छत्तीसगढ़ ब्रम्ह भट्ट ब्राह्मण समाज द्वारा आयोजित अखिल भारतीय श्री भट्ट ब्राह्मण महासभा का शताब्दी समारोह एवं प्रथम महिला सम्मेलन दिनांक 27-28 दिसंबर 2008 को प्रगति भवन सिविक सेंटर में सम्पन्न हुआ । दो दिवसीय सम्मेलन का उदघाटन मुख्य अतिथि अखिल भारतीय श्री भट्ट ब्राम्हण महासभा के अध्यक्ष डॉ. शोभनाथ राय भट्ट द्वारा किया गया सम्मेलन के विशेष अतिथि उत्तर प्रदेश के पूर्व परिवहन मंत्री बृजेश शर्मा एवं छत्तीसगढ़ हस्त शिल्प विकास बोर्ड के अध्यक्ष कृष्ण कुमार राय थे ।

सम्मेलन के आरंभ में प्रथम दिवस पर यज्ञ द्वारा सभी देवता गणों को आमंत्रित कर समाज का झंडावंदन किया गया । तत्पश्चात राष्‍ट्रीय अध्यक्ष श्री शोभनाथ राय जी द्वारा फीता काटकर व गुब्बारे उड़ाकर खेलकूद प्रतियोगिता का उद्धाटन किया गया जिसमें विभिन्न प्रतियोगिताएं महिलाए पुरूषों एवं बालक बालिकाओं के लिए आयोजित की गई थी जिसमें सभी ने बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया । महिला सम्मेलन का प्रारंभ सरस्वती पूजन एवं राष्‍ट्रीय अध्यक्ष मंहिला प्रकोष्ठ श्रीमती आभा भट्ट के द्वारा द्वीप प्रज्जवलित कर हुआ इस वसर पर अखिल भारतीय श्री भट्ट ब्राह्मण महासभा महिला प्रकोष्ठ की महामंत्री श्रीमती अलकाबेन ब्रम्हभट्ट अहमदाबाद से श्रीमती अनुभा शर्मा जबलपुर से सत्यभामा पाण्डेय कानपुर से संध्याराव नागपुर से गायत्री शर्मा सिवनी से तथा किरण बाला राय भोपाल से माला शर्मा इंदौर से उपस्थित थी ।

स्वागत भाषण में राष्‍ट्रीय अध्यक्षा महिला प्रकोष्ठ श्रीमती आभा भट्ट जी ने राष्‍ट्रीय स्तर पर महिलाओं को संगठित करने का आव्हान किया इसी अवसर पर प्रदेशाध्यक्ष श्रीमती अभिलाषा भट्ट जी ने कहा कि महिलाओं को आर्थिक रूप से मजबूत होना है । सम्मेलन में रायपुर अध्यक्ष श्रीमती ज्योति भट्ट बिलासपुर से श्रीमती शोभा शर्मा, राजनांदगांव अध्यक्ष चंद्रवती शर्मा ने अपने भाषम में महिला अधिकारों एवं महिला सशक्तिकरम पर जोर दिया कार्यक्रम के अगलेचरण में राष्‍ट्रीय कार्यकारिणी एवं प्रांतीय कार्यकारिणी के सदस्यों ने अपनेर् कत्तव्य निर्वाह की शपथ ली ।

द्वितीय दिवस शताब्दी समारोह का शुभारंभ राष्‍ट्रीय अध्यक्ष श्री शोभनाथ राय जी एवं महामंत्री एल.आर. शर्मा जी द्वारा सरस्वती पूजन किया गया । श्री राकेश भट्ट प्रदेशाध्यक्ष द्वारा स्वागत भाषण के पश्चात राजस्थान के डॉ. लीलाधर शर्मा जी ने उपनाम में ब्रह्म भट्ट रखने की बात कही तो इंदौर से भवानी कश्यप जी ने बच्चों में ब्राम्हणोचित संस्कार डालने कीबात की । प्रोफेसर चंद्रप्रकाश भट्ट ने समाज के पूर्ण विकास के लिये बच्चों की शैक्षणिक योग्यता को बढ़ाना आवश्यक बताया, राजस्थान के कमल नयन शास्त्री ने अपने ओजपूर्ण भाषण में सामाजिक कुरीतियों को हटाने एवंकार्यकर्ताओं को प्रशिक्षित करने के लिये प्रशिक्षण शिविर का सुझाव दिया । राय बरेली से आए महासभा के संयुक्त मंत्री श्री महेश शर्मा जी ने बताया कि गुजरात के समाज का टर्न ओव र3.5 करोड़ है । वही अहमदाबाद के संजय ब्रह्मभट्ट ने युवाओं को आगे लाने की बात कहीं तो झांसी के राकेश मोहन शर्मा ने मातृशक्ति को जागृत कर हम महाशक्ति का उद्भवकर पाएंगे आगरा के सामाजिक भवन बनवाकर समाज के प्रेरमा स्त्रोत पं. विद्या राम जदी ने सामाजिक संस्कारों को जगाने की बात कही तो कोलकाता के श्री सुरेन्द्र नाथ जी शर्मा ने भट्टा शब्द की भी प्रशंसा कर बताया कि भट्ट अर्थात वह जो वीर है ब्रम्हा के सबसे नजदीक है जो वेद का ज्ञाता हो एवं पुराण व उपनिषद में निपुण है । जो शिक्षा को ग्रहण करते है एवं शिक्षा का प्रचार प्रसार करते हैं साथ ही उन्होंने महासभा के संविधान में संशोधन की भी बात कही ।

नासिक से आए युवा चिकित्सक डॉ. राघवेन्द्र भट्ट ने अपना उर्जावान भाषन में सभा को सम्मोहित कर दिया । इलाहाबाद से आए पूर्व मंत्री श्री बृजेश शर्मा जी ने कहा कि जिस प्रकार मातृ ॠण नहीं चुकाया जा सकता उसी प्रकार समाज का ॠम भी नहीं चुकाया जा सकता । समारोह के विशेष अतिथि जशपुर के हस्त शिल्प विकास बोर्ड के अध्यक्ष श्री कृष्ण कुमार राय जी ने सभा को संबोधित करते हुए अपनी जिम्मेदारी का निर्वहन करना होगा कहकर महिला सम्मेलन की प्रशंसा की । कार्यक्रम के अंतिम चरण मे युवक युवती परिचय सम्मेलन को श्री रमेश राय एवंश्रीमती भिलाषा भट्ट ने संचालित किया ।
- जी. भानुराव विशेष संवाददाता

Tags: