ब्राह्मणों का हुआ सम्मान

कोरबा । छत्तीसगढ़ सरयूपारीण द्विज परिवार का सम्मान समारोह जय मां भवानी गौशाला कुटुरमाल में किया गया ।

अपेक्स बैंक के अध्यक्ष देवेन्द्र पाण्डेय ने अपने उद्बोधन में कहा कि ब्राह्मण समाज सदैव से जागरूक रहा है और देश के सतत प्रगति के लिए हमेशा से प्रयासशील रहा है । हर वर्ग के लोगों को शिक्षा दीक्षा देने में महती भूमिका रही है । सशक्त समाज ही संगठित राष्ट्र दे सकता है । बदलते परिवेश में ब्राह्मण समाज को एकजुट होकर कार्य करने की आवश्यकता है ।

ब्राह्मण समाज जब एकत्रित होता है तब समाज एवं देशहित में सकारात्मक परिणाम हासिल होता है । समारोह को संबोधित करते हुए तरूण मिश्रा ने कहा कि प्राचीन काल में राजा महाराजाओं ने ब्राह्मणों को उसके गुणों एवं योग्यता के कारन विशेष सम्मान देते थे, आज हमारे समाज में ब्राह्मण का लोप होता जा रहा है उसे हमें स्वयं चरित्र एवं कर्म के आधार पर पुन: प्राप्त करना होगा ।

इस अवसर पर उमेश गौरहा ने कहा कि हम सब अपने संस्कार भूलते जा रहे हैं, बच्चे का जन्म से लेकर मृत्यु तक 16 संस्कार होते हैं उन संस्कारों को अपने बच्चों को सिखाये ताकि भविष्य में उन पर अमल करें ।

कार्यक्रम का शुभारंभ गौ माता के पूजा अर्चना तथा आरती कर किया गया । इसके पश्चात बालको के कलाकारों द्वारा लोकरंजनी कार्यक्रम की प्रस्तुति की गयी ।

सांस्कृतिक कार्यक्रम में गरौव तिवारी द्वारा तबला वादन, पं. शिवराज शर्मा द्वारा भजन एवं टीवी समाचार की प्रस्तुति की गई । इस कार्यक्रम में 51 द्विज बंधुओं को शील्ड एवं प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया ।

इस अवसर पर ज्योतिनंद दुबे, राजेन्द्र पाण्डेय, सुरेन्द्र पाण्डेय, आर.एन. पाण्डेय, किशोर शर्मा, कामेश्वरधर दीवान, मधुसूदन शुक्ला, विजय शर्मा, सुधीर शर्मा, नंदकिशोर तिवारी, भूपेन्द्र शर्मा, जवाहर शर्मा,पुरूषोत्तम पाण्डेय, के.के. मिश्रा, अशोक शर्मा, उत्तम शर्मा, राजेश तिवारी, श्रीमती मंजूषा शर्मा पं, उमाकांत दुबे, श्रीमती मनोरमा शर्मा, चंचला तिवारी, ज्योति शर्मा, प्रतिबा शर्मा उपस्थित थे ।

Tags: