ब्राह्मण

कपल सत्र भी महिला सम्मेलन में

राजस्थान प्रांतीय शाकद्वीपीय ब्राह्मण महासभा द्वारा शाकद्वीपीय ब्राह्मण समाज का प्रथम महिला सम्मेलन बीकानेर में आयोजित किया गया । यह सम्मेलन स्थानीय स्तर पर पुरी तरह से सफल रहा । महासभा द्वारा महिलाप्रकोष्ठ का गठन कर महिलाओं को महिलाओं के लिए कार्य करने हेतु प्रेरित किया जिसका परिणाम यह रहा कि म

Tags: 

पुजारी एवं पुरोहितों का हुआ सम्मान

युवा ब्राह्मण समाज बुंदेलखंड सागर
पुजारी एवं पुरोहितों का हुआ सम्मान

सागर। सर्व युवा ब्राह्मण समाज बुंदेलखंड सागर द्वारा अध्यक्ष भरत तिवारी के नेतृत्व में पुजारी पुरोहित सम्मान समारोह का आयोजन किया गया । इस अवसर पर म.प्र. के मंत्री श्री अनुप मिश्र मुख्य अतिथि थे । पं. सुरेश मिश्र जयपुर, पं.

Tags: 

ब्राह्मण युवाओं से संस्कारित आचरण का आव्हान

भारतीय ब्राह्मण कल्याण महासंघ,सतना, पं. रघुनाथ प्रसाद त्रिपाठी.अजय त्रिपाठी,

सतना । ब्राह्मण वर्णों में श्रेष्ठ गुरू और शास्त्रों का ज्ञाता होते हुए भी आज तिरस्कृत क्यों है इस विषय पर भारतीय ब्राह्मण कल्याण महासंघ के 16 वें स्थापना दिवस समारोह में गहन मंथन किया गया । अपनी श्रेष्ठता पुन: साबित करने के सूत्र बताए । साथ ही आव्हान किया गया कि एक जूट होकर संस्कारित तरीके से समाज के नवनिर्माण में अहम भूमिका निभाये । गरीब ब्राह्मणों के बच्चों की शिक्षा एं विवाह संगठन के माध्यम से सम्पन्न कराने पर बल दिया गया । इस महाकुंभ में देश के कौे कोने से आए ब्राह्मण संगठन पदाधिकारियों ने अपने अपने विचार रखे सभी वक्ताओं ने युवा पीढ़ी को नसीहत दी कि तामसी भोजन व नशे से दूर रहे । गुरू माता-पिता, वृद्धजनों को सम्मान दे, इनकी सेवा करें यही मानव का सच्चा धर्म है ।

Tags: 

आखिर कब जागरूक होगें हम

आखिर कब जागरूक होगें हम !
..............................................................................
अब समय नही है शेष , जागरूक हो जाओ विप्रों !
आप को पुकार रहा है देश, जागरूक हो जाओ विप्रों !
स्वाभिमान हो रहा है तार-तार, हम चोट खा रहें है बार - बार ,
भागवान परशुराम सी हुनकर भरो , इस धरती का उद्धार करो !
देश धर्म पुकार रहा , अब दुष्टों का संहार करो !!!
अब समय नही है शेष , जागरूक हो जाओ विप्रों ! !!!!!
अब समय की पुकार सुनो , अपने समाज का कल्याण करो ,
....................................................................................
जब ब्राह्मण शक्तिशाली होगा तब ही भारत विश्व शक्ति होगा !
जब ब्राह्मण एकजुट होगा तब ही भारत एकजुट होगा !!
जब ब्राह्मण का सम्मान होगा तक ही धर्म की रक्छा होगी !
जब ब्राह्मण का मार्गदर्शन होगा तब ही सफलता होगी !!
.....................................................................................

पूरे भारत में हमे अपने ब्राह्मण परिवार को जागरूक करना है !
पूरे भारत में हमे अधर्मियों का नाश करना है !
भारत की , पूरे विश्व की रक्छा करनी है !
पूरे विश्व का कल्याण करना है !
....................................................................जय जय भागवान परशुराम...........
Rajneesh Pandey Pandey

Tags: 

ब्राह्मण जाति नहीं उच्च संस्कृति है

ब्राह्मण को लोग जाति के नाम से जानते हैं और बहुत संकीर्णता की दृष्टि से देखते तथा जातिवादी समझते हैं । परंतु यह मिथ्या है, असत्य है । ब्राह्मण तो अति उदार, दयालु परोपकारी है। स्वत: भूखा रहकर अतिथि व भूखे का पेट भरता है। शरणागति को स्वत: का प्राण देकर उसकी रक्षा करता है। स्वत: कुटिया में रहकर राज

Tags: 

जातिवादी आरक्षण समाप्त होना चाहिए

हमारा जब देश स्वतंत्र हुआ तो अनुजाति एवं जनजाति की आर्थिक हालात अत्यंत जर्जर थी सो उस समय के स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों या शासकों ने सोचा कि इन्हें दस वर्ष केलिए आरक्षण दे दिया जाए जिससे इनका विकास शीग्र होगा और इनका जीवन स्तर ऊपर उठेगा परंतु आज साठ वर्षों से आरक्षण को खत्म नहीं किया गया जबकि इ

Tags: 

परमाध्यक्ष युगाचार्य पं. प्रभाकर मिश्र जी का निधन

ब्राह्मण अर्तराष्ट्रीय के संस्थापक एवं परमाध्यक्ष युगाचार्य पं. प्रभाकर मिश्र जी का आकस्मिक निधन 10 अगस्त 2012 को नई दिल्ली स्थित निवास में हो गया । आपकी पार्थिव देह नई दिल्ली स्थित निगम बोध घाट में पंचतत्व में लीन हो गई । पं.

Tags: 

विप्र वार्ता प्रान्तीय प्रतिनिधियों की बैठक

सर्व युवा ब्राह्मण परिषद छत्तीसगढ़ एवं विप्र वार्ता परिवार की बैठक गत दिनों स्थानीय आशीर्वाद भवन रायपुर में आयोजित की गयी जिसमें प्रान्त भर से पधारे प्रतिनिधियों ने विप्र वार्ता के 75 वें हीरक जयंती अंक के प्रकाशन को लेकर अपने विचार रखें । दिन भर चली बैठक में यह निर्णय लिया गया है कि विप्र वार्ता

Tags: 

वे, जिन्हें आरक्षण प्राप्त नहीं है

विप्रगण, भगवान परशुराम जी को अपना आराध्य मानते हैं । अक्षय तृतीया पुण्य तिथि को उनका जनम दिन बड़ी श्रद्धा के सात मनाते हैं । इस दिन शोभा यात्रा, हवन, दान, पुण्य यज्ञोपवीत आयोजन आदि शुभ कर्मों का आयोजन बड़ी धूम धाम से सामूहिक रूप में करते हैं । हम जिस भगवान या महापुरूष का जन्म दिन मनाते हैं, उनके

Tags: 

महासंगठन क्यों नहीं ?

सभी संगठनों को मिला महासंगठन क्यों नहीं ? मनुष्य एक सामाजिक प्राणी है और मनुष्य का चहुंमुखी विकास समाज के अन्दर ही संभव है. समाज के सर्वांगीण विकास के लिए सुसंकृत होना अति आवश्यक है और इसके लिए हमे सब मिलकर कार्य करने की आवश्यकता है.

Tags: 

Pages

Subscribe to RSS - ब्राह्मण