भगवान श्री परशुराम जन्मोत्सव पर महाआरती

जन्मोत्सव
जन्मोत्सव
जन्मोत्सव
जन्मोत्सव

रायपुर। सर्व युवा ब्राह्मण परिषद छत्तीसगढ़, वल्र्ड ब्राह्मण फेडरेशन छत्तीसगढ़, विप्र-वार्ता परिवार एवं विप्र-संगठनों के द्वारा आज सायं 7 बजे अम्बादेवी मंदिर परिसर में भगवान श्री परशुराम जन्मोत्सव के अवसर पर 1100 दीपों से महाआरती, भजन-कीर्तन एवं महाभण्डारा का आयोजन सम्पन्न हुआ। कार्यक्रम में शंकराचार्य आश्रम के प्रभारी महाराज स्वामी श्री इन्दु भावानन्द जी एवं चक्रमहामेरू पीठम के पीठाधीश्वर दंडी स्वामी सच्चिदानंद जी तीर्थ, प्रमोद दुबे (महापौर-नगर पालिक निगम, रायपुर), श्रीमती शताब्दी पाण्डेय (अध्यक्ष-छ.ग. राज्य बाल कल्याण आयोग) चन्द्रभूषण शर्मा (अध्यक्ष-शिक्षा आयोग) श्री सुरेश मिश्रा, श्री अजय मिश्रा मुख्य रूप से उपस्थित रहे।
अतिथियों एवं विशाल विप्र समूह के द्वारा प्रभु श्री परशुराम जी की महाआरती के पश्चात विप्रजनों को सम्बोधित करते हुए महाराज श्री इन्दुभावानन्द जी ने कहा कि प्रभु के कार्य में समूह की एकता का विशेष महत्व होता है। आरती से कष्ट का निवारण होता है। प्रभु श्री परशुराम जी छठा अवतरण हैं जो क्षत्रिय एवं शास्त्रीय दोनों ही कला में निपुण थे। शास्त्र भी दो प्रकार के होते हैं प्रथम दर्शन शास्त्र एवं द्वितीय शासन शास्त्र। ब्राह्मणों को वेद शास्त्र की शिक्षा लेना आवश्यक है क्योंकि अब अन्य वर्णों के लोगों का भी इस विधा में प्रवेश हो रहा है क्योंकि ब्राह्मण धर्म के अलावा अन्य शास्त्रों में रुचि ले रहा है। महाराजश्री ने उपस्थितजनों से कहा कि हम ये संकल्प लें की अपने परिवार के कम से कम एक बच्चे को वेद शास्त्र की शिक्षा दिलायें तभी ब्राह्मणत्व शेष रहेगा। महापौर प्रमोद दुबे ने कहा कि संगठन द्वारा विप्रबन्धु नेटवर्क (व्ही.व्ही.एन.) का जो कार्य किया जा रहा है वह सराहनीय है। बाल आयोग की अध्यक्ष श्रीमती शताब्दी पाण्डेय ने विप्रजनों के एकजुट होकर कार्य करने की सलाह देते हुए कहा कि भगवान श्री परशुराम जी हमारे आदर्श हैं। उन्होंने ब्राह्मण वर्ग से वेद, गीता का पाठ करने की सलाह देते हुए कहा कि हमारे संस्कारों को देखकर ही हमारे बच्चे सीखते हैं। बच्चों को पाण्डित्य को ओर बढ़ायें तभी ब्राह्मणत्व कायम रहेगा। कार्यक्रम संयोयक एवं वल्र्ड ब्राह्मण संगठन के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अजय त्रिपाठी ने व्ही.व्ही.एन. की उपयोगिता की जानकारी देते हुए ब्राह्मण एकता पर जोर दिया। कार्यक्रम में प्रमुख रूप से प्रांतीय अध्यक्ष अरविंद ओझा, संभागीय अध्यक्ष नितिन कुमार झा, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष युवा विंग गुणनिधि मिश्रा, युवा प्रांतीय अध्यक्ष अविनय दुबे, निर्मल रिझारिया, अजय किरण अवस्थी, शिवाकान्त त्रिपाठी, दशरथ शुक्ल, बी.डी. मिश्रा, मिथिलेश रिछारिया, ममता राय, नितिन शर्मा, राजकुमार दुबे, आशीष शर्मा, अमित शर्मा, विजयशंकर पाण्डेय, शिबू शुक्ला, संजय अवस्थी, अजय दुबे, गिरजाशंकर दीक्षित, राजकुमार दीक्षित, मंजुला जोशी, पी. भानुजीराव, ओमप्रकाश मिश्रा, जितेन्द्र शुक्ला, लवकुश तिवारी, श्रीमती युक्ताराजश्री झा, बसंत प्रभा तिवारी, श्रीमती अमिता झा, श्रीमती सुनीता शर्मा, श्रीमती सविता आकाश दुबे, श्रीमती सुमन मिश्रा, सुधा बेन जोशी, सुशीला बेन जोशी, बबीता दुबे, नमिता शर्मा, बबली प्रीति शुक्ला, सविता तिवारी, सीमा पाण्डेय, पुष्पा मिश्रा, निर्मला पाण्डेय, मीना शर्मा, रत्ना शर्मा, श्यामा चौबे, शुभांशी पाण्डेय, श्रीमती रमा देवी शर्मा, विनीता मिश्रा, साधना शर्मा, राधा तिवारी, रश्मि मिश्रा, भोला तिवारी, रज्जन अग्निहोत्री, राघवेन्द्र पाठक, आशीष मिश्रा, डॉ. विकास पाठक, मनोज पंडित, विश्वनाथ पाठक, सतीश शर्मा, राजकुमार दुबे, पंकज पाल, आशीष शर्मा, अमित मिश्रा, पं. आशीष शुक्ला, दीपक तिवारी, संध्या मिश्रा, पं. उमेश शर्मा, अरुणा शुक्ला, जितेन्द्र शुक्ला, रज्जन अग्निहोत्री, प्रदीप पाण्डेय, अमित शर्मा, सतीश शर्मा, हितेश तिवारी, राजकुमार दुबे, आशीष शर्मा, शिशिर शर्मा, नंदन झा सहित काफी संख्या में संगठन के पदाधिकारी सक्रिय हैं

Tags: