महत्व

हिन्दू संस्कृति में नारी का महत्व

भारतीय संस्कृति की यह महानता है कि उसमे ंप्रत्येक प्राणी का आदर प्रदान किया गया है । सभी प्राणियों में नारी का विशेष सम्मानजनक स्थान है। धर्मग्रंथों में उसे मातृदेवता कहा गया है जाया के रूप में नारी आद्या शक्ति है । ग्रन्थों में कहा गया है कि जिस घर में नारी का सम्मान नहीं होता, वहां देवता भी निव

Tags: 

गायत्री मंत्र में प्रणव का महत्व

गायत्री मंत्र ब्राह्मणों द्वारा जप किये जाने वाला महामंत्र है परन्तु उसके लिए यज्ञोपवति होना आवश्यक है । यह ब्राह्मण परिवारों में बचपन में ही हो जाना चाहिए । यह संस्कार होने केबाद ही द्विज कहलाये जाते हैं । अत: ब्राह्मण बालकों का सामूहिक यज्ञोपवित संस्कार एक ठोस रचनात्मक कार्य होगा .

Tags: 

Subscribe to RSS - महत्व