मेला

स्वदेशी मेले में कान्यकुब्ज महिला मंडल की प्रस्तुती

संस्कृति और पंरपरा का अद्भुत संगम देखकर हर कोई भावुक हो गया । मंच पर शादी की रस्मों में शामिल दूल्हन और रिवाजों को पूरा करते लोगों ने अपनी प्रस्तुति से माहोल विवाह के रंग में रंग दिया ।

Tags: 

ब्राहमण कुंभ 2008

छत्तीसगढ़ राज्य स्थापना के पूर्व तक पहली बार समस्त ब्राह्मण समाज में लोग एक स्थान पर एकत्रित हुए और वह दिन है म अक्टूबर म00ॠ जिसमें की सम्पूर्ण छत्तीसगढ़ राज्य के समग्र ब्राह्मण समाज के म'000 लोग ने एकता प्रदर्शित करने को उपस्थित हुए जो कि प्रदेश की इतिहास में पहली बार ऐसी एकता देखने को मिला । प्र

Tags: 

माघ पूर्णिमा पर मेले अनेक

माघ पूर्णिमा पर पड़ने वाले विभिन्न रंग-बिरंगे मेले अपनी अद्भुत छटा बिखेरते है । इन मेलों में प्रमुख है, राजिम का माघ मेला जो अब रुप लेता जा रहा है । इसके अतिरिक्त माघ पूर्णिमा पर आयोजित होने वाले और भी कई मेले हैं ।

Tags: 

माघ - मड़ई मेंलों का महीना

उत्सवधर्मिता हमारी संस्कृति का अभिन्न अंग रही है । छत्तीसगढ़ की संस्कृति में मड़ई मेलों का महत्वपूर्ण स्थान रहा है । यहां पर स्थानीय जनभावना के अनुरुप मेलों-मंड़ईयों का आयोजन होता है ।

Tags: 

Subscribe to RSS - मेला