रायपुर

विप्रवार्ता का जनवरी 17

विप्रवार्ता का जनवरी 17

विप्रवार्ता का जनवरी 17 अंक प्रकाशित हुआ आपसे निवेदन है की पत्रिका के प्रकाशन में सहयोग करे अपनी सदस्यता और विज्ञापन जरुर प्रेषित करे अन्यथा पत्रिका भेजना संभव नहीं होगा सदस्यता शुल्क रुपये मात्र 251.00, के साथ 25 रुपये बेंक प्रेषण शुल्क के साथ

Tags: 

शासकीय सेवाओं में पदोन्नति में आरक्षण के विरोध

रायपुर। शासकीय सेवाओं में पदोन्नति में आरक्षण के विरोध में वल्र्ड ब्राह्मण फेडरेशन के तत्वावधान में प्रदेश के समस्त ब्राह्मण समाजों ने एकजुटता प्रदर्शित करते हुए रायपुर, बिलासपुर, बेमेतरा, राजनांदगांव, अ िबकापुर, कोरिया, जशपुर, जगदलपुर, कांकेर, धमतरी, रायगढ़, लोरमी, पण्डरिया, पेण्ड्रा, खैरागढ़, प

Tags: 

विप्र समागम महाआरती भंडारा एवं भजन संध्या का विशाल आयोजन

विप्र वार्ता जून 2015 का अंक महामना और अटल जी को समर्पित

 विप्र वार्ता, अजय त्रिपाठी,E magazine,E paper,,रायपुर,अटल बिहारी,बाजपेयी,महामना,मदन मोहन,भारत रत्न,भारत,प्रणव मुखर्जी

विप्रवार्ता अजय त्रिपाठी,रायपुर,द्वारा अपना जून का अंक श्री अटल बिहारी बाजपेयी,महामना मदन मोहन मालवीय को भारत रत्न प्रदान करने पर समर्पित कर रहे है यह भारत रत्न श्री प्रणव मुखर्जी,राष्ट्रपति,भारत ,और प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा परम्परयो से हट कर अटल जी के निवास पर जा कर प्रदान किया गया ,बन

Tags: 

समग्र विकास की कल्पना साकार करने विप्र समाज ने किया शंख वादन

परशुराम जयंती समारोह
परशुराम जयंती समारोह
परशुराम जयंती समारोह
परशुराम जयंती समारोह
परशुराम जयंती समारोह

सर्व युवा ब्राह्मण परिषद छत्तीसगढ़ अखिल भारतीय ब्राह्मण सेना, विश्व ब्राह्मण संघ छत्तीसगढ़ एवं समग्र ब्राह्मण प्रांतीय महासभा छत्तीसगढ़ एवं विप्र वार्ता परिवार के संयुक्त तत्वावधान में भगवान श्री परशुराम जयंती समारोह सप्ताह का आयोजन का शुभारंभ आज प्रात: कोटा स्थित भगवान परशुराम प्रतिमा स्थल पर पू

Tags: 

विचार गोष्ठी

आदरणीय साथियों , 12 सित को शाम 4 से 7 बजे तक वृब्दावन हाल रायपुर में विप्र वार्ता की उपयोगिता और उसके सांस्कृतिक संरक्चन ,समाज पर पढ़े प्रभाव , भविष्य में रुपरेखा क्या हो, विषय पर विचार गोष्टी पत्रिका के 100 वे अंक में प्रकाशन हेतु आयोजित है आपको सादर आमंत्रण
अजय त्रिपाठी

Tags: 

वर्तमान में ब्राह्मण नेतृत्व उसका अस्तित्व

भारतीय संस्कृति राजनीति एवं सामाजिक परिवेश प्रारंभ से ही ऋषिमुनियों एवं ब्राह्मणों से प्रभावित एवं संचालित रही है। प्राचीन काल में राजों महाराजों के सलाहकार एवं राज पुरोहित ब्राह्म वर्ग से ही हुआ करते थे.

Tags: 

स्वच्छ राजनैतिक वातावरण का निर्माण हो- ब्राह्मण समाज

छत्तीसगढ़ में स्वच्छ राजनैतिक वातावरण का निर्माण हो- ब्राह्मण समाज,-छत्तीसगढ़ राज्य में विकास की प्रदर्शित होती द्रुतगति केवल काल्पनिक एवं कागजी प्रतीत होती है । जबकि वास्तविकता से परे प्रदेश के अंदर विभिन्न समाजों में समरसता में कमी आई है। ब्राह्मण समाज कृत संकल्पित होकर सर्व कल्याण की भावना से

Tags: 

बसंत

बिन छुये अचानक आज द्वार की,
जब सांकल खडक़ गई
बिखरा गई कनक रज द्वारे पर रवि की रानी
मैं जान गई आ गया बसन्त
बालों को छूकर धीरे से कनबतियां करती,
सरक गई जब मदमाती पवन सुनहरी
मैं पहचान गई आ गया बसन्त
सूखे पत्तों से भरे हुए मेरे आंगन में

Tags: 

Pages

Subscribe to RSS - रायपुर