रावण दहन का विरोध

एटा । आगरा रोड स्थित दीक्षित फार्म हाउस पर ब्राह्मण समाज ने कार्यक्रम का आयोजन किया। हवन-यज्ञ के आयोजन के बाद बैठक आहूत की गई। बैठक में वक्ताओं ने रावण को विद्वान बताया और उसकी पूजा-अर्चना की। वहीं विजयदशमी पर्व पर रावण दहन का विरोध किया। बैठक में राष्ट्रवादी ब्राह्मण महासभा जिलाध्यक्ष हरेंद्र मोहन सारस्वत ने कहा कि लंकापति रावण महान तपस्वी, विद्वान एवं बलवान थे। समाज को उनकी प्रतिभाओं एवं क्षमताओं का अनुसरण करना चाहिए। न कि पुतला जलाकर विद्वता का परिहास उड़ाना चाहिए। हमें समाज में व्याप्त भ्रष्टाचारी प्रवृत्तियों का दहन करना चाहिए। संगठन के जिला सचिव अखिल दीक्षित ने कहा कि भगवान राम सबके आराध्य हैं। श्रीराम लीला हिंदू समाज का पारंपरिक आयोजन है। लेकिन रावण पुतला दहन करना उचित नहीं है। बैठक में गौरव दीक्षित, हिमांशु शर्मा, कमलेश सारस्वत, उमाशंकर दीक्षित, राजुल शर्मा, राजू दीक्षित, दीपक शर्मा, संत कुमार मिश्र, शिवेंद्र मिश्र, राजेंद्र मिश्र, नरेंद्र सारस्वत, संजय उपाध्याय, मुनीश मिश्र, प्रवीन शर्मा आदि मौजूद थे।

Tags: