विधि विधान

पञ्चमी व्रतानि वर्र्णनम् - पंचमी व्रत

अनुव्रत: पित: पुत्रों माता भवतु संभना: ।। जाया पत्ये मधुमती वाचं वदतु शन्तिवाम् ।।
आदर्श गृहस्थी वह है, जिसमें बेटे माता- पिता के आज्ञाकारी हों। माता-पिता बच्चों के हितकारी हो। पति और पत्नी के पारस्परिक संबंध सुमधुर और सुखदाई हो। ऐसे ही परिवार सदैव फलते फूलते और सुखी रहते हैं।

Tags: 

भगवान शिव पूजन

बूढ़ेश्वर महादेव में विप्र वार्ता की टीम ने सावन के अवसर पर भगवान का अभिषेक पूजन विधि विधान से संपन्न किया गया

Tags: 

Subscribe to RSS - विधि विधान