विप्रजनों ने संस्कृत भाषा और संस्कृति रक्षा की शपथ ली

चाणक्य स्मृति दिवस,
चाणक्य स्मृति दिवस,विप्र वार्ता,
चाणक्य स्मृति दिवस,
चाणक्य स्मृति दिवस
चाणक्य स्मृति दिवस,
चाणक्य स्मृति दिवस

त्यागी,निस्वार्थी सलाहकार से ही राज्य का श्रेष्ठ संचालन संभव, चाणक्य स्मृति दिवस पर शपथ समारोह आयोजित
राजधर्म का पालन यदि सही ढंग से और न्यायपूंर्ण हो सकता है तो केवल निष्पक्ष ,भेदरहित,स्वार्थरहित विचारकों,सलाहकारों तथा धर्मगुरूओं के मार्गदर्शन से ही हो सकता है , ये विचार आज वृंदावन हाल में चाणक्य स्मृति दिवस पर आयोजित शपथ समारोह के अवसर पर मुख्यअतिथि महन्त डॉ रामसुंदर दास ने व्यक्त किया,, उन्होंने आगे नीति अनीति पर अपनी बात रखते हुए कहा कि भगवान् राम ने और उनके पिता महाराजा दशरथ ने भी अपने राज्य के गुरु वशिष्ठ को मुख्य मार्गदर्शक के रुप में सदा मान्यता दी, ताकि नीति अनीति को जानकर राज्य की जनता के साथ न्याय कर सकें, शिवा जी महाराज ने अपने गुरु समर्थ रामदास का सदा आदर किया और उनकी आज्ञा का पालन किया, इस अवसर पर भाषाविज्ञानी डॉ चित्तरंजन कर ने कहा कि विद्वान और त्यागी महात्मा यदि राजा के सलाहकार बने तो उस राजा का कभी अनिष्ट नहीं हो सकता,

संस्कृत के विद्वान पंडित नीलेश शर्मा ने भी अपने उदगार व्यक्त किए ,, कार्यक्रम में प्रदेश भर से उपस्थित सभी विप्रजनों ने सामाजिक व्ययस्था के निर्वहन करने, संस्कृति और संस्कृत की रक्षा करने,संस्कृत भाषा का अध्ययन करने व् धर्म की रक्षा और संवर्धन करने की शपथ ली,,उपस्थित विप्रजनो को महंत रामसुन्दर दास ने शपथ दिलायी, वर्ल्ड ब्राह्मण फेडेरेशन के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष अजय त्रिपाठी, ने स्वागत भाषण में कहा कि चाणक्य स्मृति दिवस को रचनात्मक और आदर्श निर्मित करने का दिन बनाना होगा तथा इसकी आवश्यकता को प्रतिपादित करते हुए संग़ठन की आगामी कार्ययोजना पर प्रकाश डाला , राष्ट्रीय युवा उपाध्यक्ष गुणनिधि मिश्रा,प्रांतीय अध्यक्ष अरविंद ओझा प्रांतीय युवा अध्यक्ष अविनय दुबे ने अतिथियों का सम्मान किया सञ्चालन

संयोजक साहित्यकार अजय किरण अवस्थी ने किया इस अवसर पर विशेष रुप से सुनीता शर्मा,,जिलाध्यक्ष शिवमूरत तिवारीं भोला,सरयूपारिन ब्राहण से ,जितेंद शुक्ल,राजकुमार दुबे,राघवेन्द्र पाठक,,कान्यकुब्ज सभा के सचिव संजय अवस्थी,अजय मिश्र,सुमन मिश्र बबिता दुबे, सीमा पाण्डेय , प्रदीप पाण्डेय , अमृत लाल बिलथर , यतीश पाठक, व्ही पार्थसारथी राव, स्नेहलता पाठक, शकुंतला तिवारी, अशोक शर्मा, सतीश शर्मा अध्यक्ष केंद्रीय समिति, डा. प्रभा शर्मा, सीमा तिवारी, ममता तिवारी, गौतम ओझा, ब्रम्हदत मिश्रा, अवधूत जोशी, अनामिका चैबे, प्रो. एम.एल. शर्मा, प्रदीप गोविन्द शितुत, संदीप शुक्ला, कवि संजीव ठाकुर, सुभाष तिवारी, शिवमूरत तिवारी, सुनिता चंसोरिया, शिवानी मोइत्रा, ममता राय, मिथिलेस आर्चार्या, देवेन्द्र पाठक, संजय अवस्थी, शिवाकान्त त्रिपाठी, सी.पी. शर्मा, गुणनिधि मिश्रा, मीनाक्षी बाजपेयी, के.पी. सक्सेना, मंगला जोशी, अविनय दुबे, पं. प्रदीप कुमार पाण्डेय बा्रहमण सेना, सतीश शर्मा, अमित शर्मा आदि गणमान्य नागरिक कार्यक्रम में उपस्थित थे। कार्यक्रम का संचालन अजय किरण अवस्थी ने किया । इस अवसर पर स्नेहलता पाठक को गंगदेव सम्मान प्राप्त होने पर स्मृति चिन्ह प्रदान किया गया।

Tags: