विप्र वार्ता के सदस्य ध्यान देंवे

प्रकाशन के तीन वर्ष पूर्ण हो चुके हैं
पत्रिका की सदस्यता 151 रुपये त्रि-वार्षिक
है । अधिकांश सदस्यों की सदस्यता अप्राप्त हैं । कृपया निरंतर पत्रिका प्राप्ति हेतु सदस्यता शुल्क शीघ्र भेजें ।
- प्रधान संपादक

Tags: