वेद

गौड़ ब्राह्मण समाज भिलाई द्वारा परिचय सम्मेलन

परशुराम जयंती के भव्य आयोजन भिलाई । गौड़ ब्राह्मण समाज भिलाई द्वारा श्री परशुराम जयंती पर परिचय सम्मेलन का आयोजन किया गया । इस मौके पर छत्तीसगढ़ उड़ीसा, महाराष्ट्र, मध्यप्रदेश राज्यों से स्वजातीय बंधु शामिल हुए 145 युवकों और 34 युवतियों ने मंच पर आकर परिचय दिया। युवक- यवुतियों के अभिभावकों ने भी

Tags: 

सावन पूर्णिमा पर श्रावणी उपाकर्म

श्रावणी पर्व पर खारून नदी के तट पर शहर के विप्र जनों ने बड़ी संख्या में स्नान कर वैदिक मंत्रों के साथ ्रप्रतिवर्षानुसार श्रावण की पूर्णिमा रक्षा बंधन के दिन संकल्प लेकर अपने पित्रों व गुरूओं का तर्पण किया एवं सप्त ऋुषियों का पूजन, वेद पूजन कर जनेऊ पूजन कर धारण किया । इस कार्यक्रम में लगभग 80 ब्रा

Tags: 

वेद उपनिषद की रक्षा कौन करेगा

ब्राह्मण जागृत नहीं हुये तो वेद उपनिषद दर्शन आदि की रक्षा कौन करेगा

Tags: 

ग्रंथ क्यों हैं और किस लिए

युवाओं के लिए धार्मिक ग्रंथ यानी वेद, पुराण, उपनिषद आदि एक अबूझ पहेली जैसे हैं। ये ग्रंथ क्यों हैं और किस लिए बनाए गए हैं, यह अधिकतर युवाओं की समझ से बाहर है। इन ग्रंथों की पारंपरिक शैली और कठिन भाषा के कारण इन्हें समझना और ज्यादा मुश्किल हो गया है। पुराणों में अधिकांश कहानियां प्रतीकात्मक हैं। अ

Tags: 

गुरुकुल में वेदों का अध्यापन

वर्तमान में जहां अभिभावकों में अपने बच्चों को डॉक्टर व इंजीनियर बनाने की होड़ मची है वहीं देश में कई अभिभावक ऐसे भी है जो अपने बच्चों को भारतीय संस्कृति व वेदों की शिक्षा दिलाने में रूचि ले रहे हैं । जिले के ग्राम कोसरंगी के गुरूकुल में ऐसे करीब 50 बच्चे विभिन्न राज्यों से अपनों अभिभावकों के सपने

Tags: 

शाकद्वीपीय ब्राह्मण

ऋक, वाक्य ब्रह्म जानाति इति ब्राह्मण: से स्पष्ट है कि ब्राह्मण जाति ही नहीं, बल्कि एक संस्कृति संस्कार है । सामाजिक व्यवस्था के अंतर्गत यह शब्द जाति सूचक हो गया जो तत्कालीन सामाजिक कारणों से विभिन्न वर्गों में विभक्त होता गया । यद्यपि पौराणिक ग्रंथों में ब्राह्मण ही उल्लिखित है परन्तु वेद पुरा

Tags: 

वेदों में हनुमात् चिन्तन

वेदों में भी श्री हनुमान जी के स्वरूप् कार्य एंव सेवा की प्रशंसा की गयी है सभी सम्प्रदायों में इनके स्वरूप को निर्धारित किया गया है।

वेदावतार श्रीमद्वाल्मीकीय रामायण में , अध्यात्म रामायण में रामचरितमानस में गोस्वामी जी ने तो इनके नाम पर सुन्दरकाण्ड ही लिख दिया है ।

Tags: 

Subscribe to RSS - वेद