व्रत

षष्टि- व्रत वर्जनम्

।। ऊँ ऐं नम: ऊँ ।। सङ्गच्छध्वं सं वद्धं सं वो मनासि जानताम् ।-देवा भागं यथा पूर्वे सञ्जानाना उपासते ।। आप परस्पर मिल जुलकर चलें, परस्पर मिलकर स्नेह पूर्वक वार्तालाप करें। आपके मन समान विचारधारा वाले होकर ज्ञानार्जन करे। जिस प्रकार पूर्व काल में सज्जनों ने एक साथ मिलकर यज्ञादि कार्यों को करते हुए

Tags: 

चार्तुरमास में भिक्षादान

भिक्षादान

इस पृथ्वी में अनेक कोटि जीव प्राणियों में से मनुष्य जन्म ही परम श्रेष्ठ कहलाता है। बहुत कठिन से मिलने वाला ये मनुष्य जन्म को धन्य करना ही हमारा धर्म है । इस मनुष्य जन्म को साफल्य करने के लिए चार आश्रम बनाये गये हैं ब्रह्मचर्य, ग्रहस्तष वानप्रस्त, सन्यास। ये चार आश्रम जन्म साफल्य की सीढ़ी कहलाता ह

Tags: 

पावन पर्व गंगा दशहरा

हिन्दू समाज मूलत: धर्म से जुड़ा हुआ समाज है यही कारण है कि हिन्दू समाज में हर पर्व, त्यौहार व्रत और उत्सव धर्म से जुड़े हुए परिलक्षित होते हैं इन्हीं में एक अति विशिष्ट पर्व है गंगा दशहरा जिसे ज्येष्ठ शुक्ल दशमी भी कहा जाता है । गंगा दशहरा वैसे तो लोक प्रचलित पर्व है परंतु धारणा की दृष्टि से देखे

Tags: 

चतुर्थी व्रतानि कथनं

ऊँ श्रीं ह्रीं क्लीं गणेश्वराय ब्रह्मरूपाय चारवे । सर्वसिद्धि प्रदेशाय विघ्नेशाय नमो नम:।। -- ऊँ प्रियात्मनों सादर नमो नारायणाय नम:। मम प्यारे जी की पावन कृपा से आज हम लोग चतुर्थी के व्रतों के बारे में जाने समझने का प्रयास करेंगे । ऊँ माग मास के शुक्ल पक्ष की चतुर्थी के दिन उपवास (व्रत) रखें तथा

Tags: 

सूर्य सप्तमी व्रत -ओमप्रकाश अवस्थी

सूर्य सप्तमी व्रत महिमा-यह व्रत स्त्रियाँ सूर्य -नारायण के निमित्त करती है l इसलिए इसे'' सौर सप्तमी भी कहते है'' l माघ शुक्ल सप्तमी का व्रत सूर्य देवता को समर्पित है. सूर्य को शास्त्रों एवं पुराण में आरोग्यदायक कहा गया है. सूर्य की उपासना से रोग मुक्ति का जिक्र कई स्थानों पर आया है.

Tags: 

राशि के अनुसार हो शिव पूजा

शिव पुराण के अनुसार महाशिवरात्रि के दिन शिवलिंग की उत्पत्ति हुई थी, इसीलिए इस दिन किया गया शिव पूजन, व्रत और उपवास अनंत फल दायी होता है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार श्रध्दालु भक्त अपनी राशि के अनुसार भी भगवान शिव की आराधना और पूजन कर मनोवांछित फल प्राप्त कर सकते हैं । महाशिव रात्रि के दिन किसी भी र

Tags: 

करवा चौथ - पति के दीर्घायु की कामना का व्रत

हमारी संस्कृति में व्रतों की परंपरा सदियों पुरानी रही है , यह करवा चौथ व्रत पति पत्नी के संबंधों को मजबूत बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं, किसी भी विवाहिता स्त्री के लिए करवा चौथ व्रत बहुत महत्वपूर्ण होता है ।

Tags: 

Subscribe to RSS - व्रत