सलाहकार संपादक

वर्तमान में ब्राह्मण नेतृत्व उसका अस्तित्व

भारतीय संस्कृति राजनीति एवं सामाजिक परिवेश प्रारंभ से ही ऋषिमुनियों एवं ब्राह्मणों से प्रभावित एवं संचालित रही है। प्राचीन काल में राजों महाराजों के सलाहकार एवं राज पुरोहित ब्राह्म वर्ग से ही हुआ करते थे.

Tags: 

विप्र वार्ता हेतु सुझाव पत्र

14 जुलाई 2012 के कार्यक्रम के लिये आप बधाई के पात्र हैं । लगभग 40 लोग एकत्र हुए थे सभी क्षेत्रों से और लंबी चर्चाएं हुई । भोजन के बाद मैं सामने के भवन में चला गया जहां कोर कमेटी की बैठक प्रस्तावित थी । अत: कुछ सुझाव जो मैं देना चाहता था (यदि मौका मिलता) वह नहीं दे सका । श्री पी भानू राव से मालूम

Tags: 

सलाहकार संपादक

सलाहकार संपादक -राजेश्री महंत, रामसुन्दर दास, शंकर पाण्डेय, डॉ. विनोद तिवारी, श्री राकेश चतुर्वेदी, डॉ. निरूपमा शर्मा, श्री देवेन्द्र पाण्डेय, श्री चन्द्रप्रकाश बाजपेयी,

Tags: 

Subscribe to RSS - सलाहकार संपादक