स्वच्छ राजनैतिक वातावरण का निर्माण हो- ब्राह्मण समाज

छत्तीसगढ़ में स्वच्छ राजनैतिक वातावरण का निर्माण हो- ब्राह्मण समाज,-छत्तीसगढ़ राज्य में विकास की प्रदर्शित होती द्रुतगति केवल काल्पनिक एवं कागजी प्रतीत होती है । जबकि वास्तविकता से परे प्रदेश के अंदर विभिन्न समाजों में समरसता में कमी आई है। ब्राह्मण समाज कृत संकल्पित होकर सर्व कल्याण की भावना से प्रदेश में एक राज्य एक जन को स्थापित करने स्वच्छ राजनैतिक वातावरण निर्माण की दिशा में कार्य करेगा। ये विचार में समस्त विप्र समाज के नेताओं ने व्यक्त किये । विचार मंथन में कहा गया है कि प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस की सरकार ने अपने कृत्यों से जातिवाद का जहर घोलने का प्रयास किया है । जबकि भारतीय जनता पार्टी का मुख्य एजेन्डा हिन्दुत्व और कांग्रेस का एजेन्डा धर्म निरपेक्ष होने के बावजूद ये राष्ट्रीय पार्टियां अपने वोटों की राजनीति के लिए राजनैतिक माहौल को दूषित कर जातिवाद का जहर घोल रही है। जो इस प्रदेश में किसी भी स्तर में कहीं भी, कभी भी नहीं रहा है।
आशीर्वाद भवन में आयोजित आज की बैठक में प्रदेश भर से आये विप्र संगठनों में विश्व ब्राह्मण संघ के राष्ट्रीय सलाहकार अजय त्रिपाठी समग्र ब्राह्मण प्रांतीय महासभा के अध्यक्ष बिरेन्द्र पाण्डेय, महामंत्री रमेश पटाक राजनांदगांव, संरक्षक रामशरण तिवारी बिलासपुर, पी.भानुजी राव भिलाई, जानकी प्रसाद शर्मा धमतरी, मंतूराम शर्मा चांपा, सतीश शर्मा महासचिव केन्द्रीय समिति, रमा देवी शर्मा, विजय लक्ष्मी शर्मा, सावित्री बेन जोशी, सुनीता चंसौरिया, अरविन्द ओझा, चंद्रकांत तिवारी, डॉ. विजय तिवारी चारामा, राकेश तिवारी लोरमी, ध्रुव नारायण शुक्ल आरंग, रामबिहारी मिश्रा कुम्हारी, दशरथ प्रसाद शुक्ला, ममता शर्मा, सत्य प्रकाश शर्मा, राधेश्याम जोशी तिल्दा, आशीष पाण्डेय जशपुर, पंकज दुबे बैकुण्ठपुर, सूरज तिवारी धमतरी,अरुण शुक्ल ,स्वराज तिवारी मुंगेली,नरेन्द्र मिश्रा गुण्डरदेही,अवधेश दुबे कुम्हारी, राकेश गौतम बीरगांव, शरित कुमार मिश्रा, अनिल मिश्रा, संजय कुमार मिश्रा, अमित शर्मा, अविनय दुबे ब्राह्मण सेना, उमा शंकर, नीता शर्मा चारामा, अजन्ता कविराज, अप्पा खरे आदि ने अपने विचार रखते हुए ब्राह्मण समाज के संगठन की महती आवश्यकता को प्रतिपादित किया। सभी ने कहा कि संगठन होना आवश्यक है इसे समस्त जिला इकाईयों में समन्वय समिति के माध्यम से सक्रिय भूमिका निभाये जाने की दिशा में कार्य करना चाहिए । एवं आगामी चुनाव को देखते हुए राजनैतिक सरगर्मियों के बीच स्वच्छ एवं ईमानदार राजनीति हो इसके लिए राजनीतिक पार्टियों के नव युवकों सहित स्वच्छ छबि के कार्यकर्ताओं को टिकट दिये जाने हेतु प्रेरित किया जाना चाहिए। साथ ही यह सुनिश्चित होना चाहिए कि राजनीतिक पार्टियों के इस श्रेणी के उम्मीदवारों को विजय हासिल हो इसके लिए समाज के विप्र जन अन्य समाजों को जोडक़र अपने नेतत्व में ऐसे लोगों को विजय श्री दिलाने में अपनी महती जिम्मेदारी का वहन करें।
बैठक में विप्र वार्ता के राष्ट्रीय स्वरूप निर्माण की दिशा में सभी ने अपने योगदान देने का वचन दिया बैठक में माधव कृष्ण शास्त्री, राजकुमार दुबे, जी.पी. बुधौलिया, सुरेश मिश्रा, बादल चक्रवर्ती, मुन्नालाल दुबे, प्रदीप कुमार पाण्डेय, अशोक तिवारी, राजेश शर्मा, हर्षद राय ओझा, विजय व्यास, मोहन शर्मा, रमेश शर्मा, सोनल शर्मा,धनजय त्रिपाठी , राजीव चक्र वर्ती, माधुरी शर्मा, रामकिशन शर्मा, राघवेन्द्र पाठक, सीमा शर्मा, निरजा शर्मा, शांतनु गोस्वामी,पारूल पंड्या, प्रवीणा बेन, जयश्री बेन, शशिकांत अवस्थी, पोषण शुक्ला, गौरीशंकर शर्मा राजनांदगांव, आदित्य शुक्ला, डा. उपेन्द्र त्रिवेदी, सुधा जोशी, अशोक शर्मा, आशीष शर्मा, सुशीला जोशी, डा. चन्द्रमणि तिवारी अंकुर ओझा, अनुराग मिश्रा, प्रतीक तिवारी, संजय अवस्थी, हेमन्त तिवारी, नंदकुमार तिवारी, नारायण प्रसाद दुबे, तेजनारायण तिवारी कुम्हारी, गणेश तिवारी कांकेर, गोरे लाल पाण्डे, जयप्रकाश शर्मा कलाकार, सुरेश कुमार शर्मा आरंग, अजय शर्मा धमतरी, संजय शर्मा, संदीप पौराणिक, अंजनी कुमार शर्मा, अशोक मिश्रा गायक कलाकार, अविनाश शर्मा,विश्वनाथ चक्रवर्ती ,

Tags: