स्वदेशी मेले में कान्यकुब्ज महिला मंडल की प्रस्तुती

संस्कृति और पंरपरा का अद्भुत संगम देखकर हर कोई भावुक हो गया । मंच पर शादी की रस्मों में शामिल दूल्हन और रिवाजों को पूरा करते लोगों ने अपनी प्रस्तुति से माहोल विवाह के रंग में रंग दिया ।

उत्तरप्रदेश की विवाह की रस्म और राजस्थानी नृत्य की शानदार प्रस्तुति को दर्शकों ने खूब सराहा । स्वदेशी मेले के आखिरी दिन कान्यकुब्ज महिला मंडल द्वारा विवाह की रस्मों को बड़े ही आकर्षक तरीके से लोगों के सामन प्रस्तुत किया । इसमें विवाह में होने वाली रस्म गौरिहारी से लेकर बिदाई को बखूबी प्रस्तुत किया ।

सांस्कृतिक संध्या और सामाजिक समागम का जादू लोगों पर खूब चला ।

मेले में उत्तरप्रदेश, राजस्थान, महाराष्ट्र व पजांब से आए हुए विक्रेताओं ने भी हिस्सा लिया । राजस्थानी की खास चुड़ियां व उत्तर प्रदेश की कालीन को भी लोगों ने पसंद किया ।

इसके अलावा स्वदेशी मेला में गुजरात के कपड़े और हैदराबादी कंगन ने महिलाओं को आकर्षित किया ।

Tags: