९० मिनट की जेल

कल छत्तीसगढ़ की ९० विधान सभा सीटो पर कांग्रेस ने जेल भरो आन्दोलन का आयोजन किया मांग थी किसानो को २७० रुपये बोनस दो ,में भी कांग्रेस की और से डोंडी लोहरा विधानसभा का सन्वयक बनाया गया था ,श्री नन्द कुमार पटेल जी ने यह जिम्मेदारी जिस उम्मीद से दी थी वह तो पूरी हो गयी ,पर जेल मिली सिर्फ ९० मिनटों की , वह भी अस्थायी जेल में .प्रशाशन ने एक स्कूल को अस्थायी जेल बनाया था ,
सुबह -सुबह उठ कर में अपने बच्चे के स्कूल जाने के समय उसके साथ ही तैयार हो गया बच्चे के सवाल पर मैंने बताया की जेल जा रहा हु ,उसे विश्वास ही नहीं हुआ
जब वह स्कूल से लोटा तो फिर जिज्ञासा वस् मोबाईल पर कॉल कर पूछा ,पापा क्या आप जेल पहुच गए ? मेने बताया की बेटा अभी भाषण चल रहा है १/२ घंटे बाद चले जायेंगे
डोंडी लोहरा में वहा के पूर्व विधायक डोमेन्द्र भेड़िया,रजा भूपेंद्र टेकाम ,मुक्ति गुहा नियोगी ,अनिला भेड़िया , प्रदेश सचिव डॉ शिव नारायण द्वेवेदी के नेत्रित्व में डोंडी ,दल्ली .और लोहरा के ब्लोक कांग्रेस अध्याच्चो के साथ लगभग १३००-१४०० लोग रेली निकाल कर तहशील कार्यालय जा रहे थे बीच रस्ते में पोलिस ने स्कूल के सामने रेली को रोक कर गिरफ्तार कर लिया
गिरिफ्तारी के बाद नाम दर्ज करने की प्रक्रिया चली और इसमे जो ९० मिनट का समय लगा वो था हमारा जेल में रहने का समय ...........

Tags: